अगर आपके घर धान रखा हुआ है तो यह रिपोर्ट देखने जरूरी है।

अगर आपके पास धान है तो किसानों के लिए जरूरी रिपोर्ट।

सभी किसान भाइयों को यह यह सूचना दी जा रही है कि जिन जिन किसान भाइयों के पास किसान साथियों ज्यादा ज्यादा दिनों की बात नहीं हुई है जब ऐसा लग रहा था कि बांस पति की तेजी रुकने वाली नहीं है और ऐसा प्रतीत हो रहा था कि जल्द ही 1121 और 1718 आदि धान के भाव 5000 को पार कर जाएंगे लेकिन सभी किसान भाइयों को यह सूचना दी जा रही है कि मंडी के भाव टुडे पर हमने पहले ही बता दिया था कि जल्दी ही धान के भाव पर आवक का प्रेशर देखने को मिलेगा इसलिए हम कई दिनों से सभी किसान भाइयों को यह बता रहे हैं कि भाव अच्छे हैं यहां पर आप अपना माल निकाल सकते हैं लेकिन सभी किसान भाइयों को दिक्कत यह आती है की ट्यूब और सोशल मीडिया पर हर कोई धान पर ज्ञान दे रहा है मंदी होने पर भी तूफानी तेजी बता रहे हैं और यह सब लोग किसान साथियों की ब्राह्मण कर देते हैं इसलिए सभी किसान भाइयों को ऐसी झूठी झूठी बातों से बचना है जिन किसान भाइयों के पास बासमती है तो उन किसान भाइयों को यह है आदेश दिया जा रहा है की सही जानकारी प्राप्त करके सही समय पर और अपने धान ठीक समय पर निर्णय लेकर अपना धान मंडी में बेक दे जिन किसान भाइयों को यह लग रहा है कि अभी किसान भाइयों को मंडी में यह देखने को मिल रहा है कि इस टाइम धान का रेट मंडी में ज्यादा है तो सभी किसान भाइयों को यह बता दें कि कुछ समय बाद धान का रेट मंडी में और बढ़ जाएगा तो सभी किसान भाइयों से यह निवेदन है कि आपका धान का रेट और बढ़ाया जाएगा।

आज का धान का मंडी का भाव क्या है।

सभी किसान भाइयों को यह सूचना दी जा रही है कि कुछ दिनों से धान के भाव में तेज गति से चल रही है यूपी और हरियाणा तथा पंजाब वह राजस्थान एवं मध्य प्रदेश की मंडियों में धान का खरीद चलाने से भाग में आग सी लग गई थी लेकिन अब धान के साथ साथ मुनाफा वसूली की बिकवाली आने से 77 धान के भाव अपने टॉप भाव से 200 /₹300 गिर चुके हैं लेकिन चावल के भाव में भी 500/ 700 रुपए प्रति क्विंटल की गिरावट आ चुकी है तो सभी किसान भाइयों को यह बता दें कि सभी किसान भाई ठीक तरह से धानु के बारे में जानकारी प्राप्त करके सही समय पर सही निर्णय लेने के बाद इसलिए मंडी भाव टुडे पर हम सरसों धान और ग्वार की रिपोर्ट लेकर आते हैं ताकि आपको सही निर्णय लेने में सहायता मिल सके इस रिपोर्ट में हम धान के भाव को लेकर बन रही संभावनाओं का विशेषण करेंगे।

धान के सीजन के क्या हाल-चाल है।

सभी किसान भाइयों या साथियों जैसा कि आप सभी जानते होंगे कि अक्टूबर की वह मौसमी बरसात से बासमती धान की फसल को नुकसान पहुंच गया था यह जानकारियों का कहना है कि इस बार धान को बुवाई का रकबा 2:00 से 22 से 23% के करीब बढ़ा हुआ है इसलिए तेजी टिकाऊ रहने में संदेश व्यक्त पहले ही किया गया था बेमौसम बरसात के कारण धान की कटाई भी लेट हो गई थी इसका बड़ा असर किसानों पर पड़ा था किसी जन की शुरुआत से ही धान की आपूर्ति में कमी होने लगी थी आवक में कमी को देखते हुए स्टॉकिस्ट एवं राइस मिल वाले जैसे दोनों एक साथ खरीदारी करने लगे जिससे बाजार की तेजी और बढ़ाई गई बाजार के विशेषज्ञों का यह कहना है कि इस साल कारोबारी में प्रीति स्पर्धात्मक खरीद करके सभी तरह के धान के भाव अनाप-शनाप तेज कर दिए हैं इस सीजन में धान लगभग 1121 के भाव 4200 /4550 रुपए एवं 1509 धान के भाव 3700 और 39 रुपए प्रति कुंतल तक धान का रेट टॉप जाएगा

धान में लगभग ₹320 की गिरावट

सभी किसान भाइयों को यह साथियों को यह बता दें पिछले 3 दिन से धान में कमजोरी का माहौल बना हुआ है मंडियों में ध्यान से खचाखच भरी हुई इन 3 दिनों से मंडियों में धान की आवक 30 से 32% बढ़ जाने से धान के भाव 200 और ₹300 प्रीति कुंटल लुढ़क चुके हैं जिन मंडियों में 1121 के भाव 4550 तक चल रहे थे अब वहां 420 30 चल रहे हैं समान तरह की गिरावट सभी मंडियों में देखने को मिल रही है हालांकि बुधवार की सुबह को जब मंडी में भाव थोड़े से स्तर होते हुए नजर जरूर आए लेकिन खरीदारों के मूड को देखते हुए ओवरऑल माहौल कमजोर ही लग रहा है धान के भाव 50 से ₹100 प्रति कुंटल और दव सकते हैं सरसों का इशारा तेजी की तरफ देखो आज की ताजा मंडी भाव 23 नवंबर 2022।

धान में आगे होने की क्या समस्या है

किसान भाइयों सभी से यह निवेदन है कि अभी पिछला स्टोक पूरा ना होने के कारण धान में किसी भी बड़े मंदिर की गुजारिश नहीं है लेकिन आगे थोड़े बहुत और मन दिखा दे दिखाई दे रहा है क्योंकि न्यास को माल भी बंदर गांव से लेकर दिल्ली एनसीआर के गोदामों में स्टॉक हो चुका है इधर हाजिर मंडियों के कारोबार भी धान तथा चालक दोनों ही खरीद लगाकर कर रहे हैं और इनके द्वारा भी काफी माल स्टॉक में लग गया है चावल के भाव की बात करें तो 1121 स्टीम क्वालिटी के भाव जो आज की ₹900 प्रति क्विंटल का लेवल पार्क पार कर गए हैं बांस पत्ती 30 को छोड़कर अन्य सभी वैरायटी में लगभग इतनी ही गिरावट हो चुकी है धान के ऊंचे भाव के बावजूद आवक बढ़ने से राइस मिलने घटकर बेचने लगी है बाजारों में भी मुनाफावसूली की बिकने आने वाली है ग्वारा हुआ 7000 के पार अब आगे क्या है ग्वारा के सबसे इस्टीक तेजी मंदी रिपोर्ट

सभी किसान भाई अपने धान बेक दें या रोके

सभी किसान भाइयों को यह बता दें कि धान 1121 ,1718 और 1401 सहित सभी तरह के दानों की अब तेजी से आवक बढ़ने लगी है तथा एक सकते के अंतराल में ही सभी मंडियों में आवक का दबाव लगभग 30% और बढ़ जाने की संभावना हो सकती है इन परिस्थितियों में यह देखते हुए वर्तमान में एक बार माल बेचकर मुनाफा ले जाने चाहिए जिन किसान साथियों को रिक्स लेना पड़ता है बे माल को होल्ड करके रख सकते हैं लेकिन माल को लंबे समय तक होल्ड करके रखना नहीं होगा पुराना स्टॉक ना होने पर सभी को आगे चलकर भाव बढ़ने की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता।

About us

देश की सभी मंडियों की ताजा भाव की सबसे ताजा अपडेट के लिए यहां आए।

Contents Us

svresult.in

Leave a comment