पूजा में उपयोग किया जाने वाला कपूर कहा से पैदा होता है।

आज जानते हैं की पूजा मै उपयोग होने वाला कपूर कहा से पैदा होता है।

Camohor Making process: यह तो आप जानते ही होंगे कि पूजा में कपूर का अपना अलग ही महत्व रहता है और हिंदू धर्म में अधिकतर कपूर का ही इस्तेमाल किया जाता है और हिंदू धर्म कि अधिकतर पूजा कपूर द्वारा की जाती है और आप को हम आज यह बताना चाहते हैं की कपूर का कहां से उत्पादन होता है और हमारे देश में कपूर कहां पर होता है और हम कपूर का इस्तेमाल करते हैं लेकिन हमें यह नहीं पता रहता कि हम कपूर का इस्तेमाल क्यों करते हैं और जैसा कि हिंदू धर्म में सभी लोग यह जानते होंगे की कपूर से ही हिंदू धर्म की जाए तो पूजा की जाती है और हिंदू धर्म के अधिकतर लोगों को यह नहीं पता होगा कि हम कपूर कहां से आता है और हम आपको आज यह बताने जा रहे हैं की कपूर का कहां से उत्पादन होता है चलो हम बता रहे हैं की कपूर का एक पौधा होता है जिससे हमें कपूर पैदा होता है और कपूर जो है एक पौधे द्वारा उत्पन्न होता है कपूर का एक लगभग बड़ा सा पेड़ होता है और जिससे हमें कपूर पैदा होता है

क्या होता है कपूर और कपूर की क्या होती है विशेषताएं।

यह तो आप जानते ही होंगे कि कपूर का एक पौधा होता है जिससे हमें कपूर पैदा होता है और आजकल हिंदू धर्म में कपूर के बिना आरती संपन्न नहीं होती है और कपूर का मनुष्य के लिए यह लाभदायक भी होता है बहुत से मनुष्य यह सोचते हैं की कपूर मनुष्य के लिए कहीं बेकार तो नहीं है हम आपको यह बता दें कि कपूर के लिए मनुष्य को बहुत ही लाभदायक है बहुत से मनुष्य के होने वाली रोग को यह मिटा देता है और आजकल ज्यादातर हिंदू धर्म में कपूर का उपयोग होता है तो हम आपको यह बता दें कि कपूर का एक पौधा होता है जिससे हमें कपूर पैदा होता है और आजकल हिंदू धर्म में ज्यादातर कपूर का उपयोग होने के कारण अब कपूर का काम फैक्ट्रियों में भी किया जा रहा है वह कपूर एक ठीक तरह से कपूर नहीं होता वह नंबर दो का कपूर होता है कपूर वही होता है जो हमें पौधे से प्राप्त होता है वह कपूर मनुष्य के लिए लाभदायक और हिंदू धर्म में पूजा करने के लिए अधिकतर उपयोग कपूर का ही किया जाता है बिना कपूर के ही आपकी पूजा का संपन्न होना भी नहीं माना जाता है तो हिंदू धर्म में अधिकतर कपूर का ही उपयोग किया जाता है आपको यह बता दें कि कपूर एक बहुत ही अच्छी सामग्री है जो हमारी दैनिक जीवन में बहुत उपयोग की जा रही है और इसका उपयोग अधिकतर हिंदू धर्म में किया जाता है।

पेड़ पर किस तरह से बनता है कपूर

दरअसल कपूर वाले पेड़ की बुड चिप्स पानी छाल के टुकड़ों से आसन विधि के द्वारा जारी बनाएं जाते हैं इसमें इन बुड चिप्स को गर्म करके बासु के द्वारा एक पाउडर बनाया जाता है और उस पाउडर के जरिए ही असली कपूर को बनाया जाता है हालांकि एक कृत्रिम रूप से कपूर बनाए जाने लगा है यह बता दें कि इस पेड़ ज्यादातर एशिया में काफी ज्यादा मात्रा में पाए जाते हैं और इसमें चीन जापान के साथ ताइवान मैं इसका दबदबा रहता है उस क्षेत्र में इस तरह के पेड़ अधिक मात्रा में पाए जाते हैं और उनसे कपूर को उत्पादन किया जाता है इसमें अलग-अलग किस्म के पेड़ पौधे को अलग-अलग तरह के कपूर पैदा किए जाते हैं।

कपूर के अनेक फायदे

कपूर का मुख्य रूप से इस्तेमाल पूजा के दौरान आरती करने में क्या जाता है कपूर में एक काफी तेज गंध होती है और यह गंद अत्यधिक ज्वलनशील पदार्थ की होती है और इसका निर्माण की प्रक्रिया के आधार पर और अलग-अलग देशों के कपूर के अलग-अलग प्रकार मिलते हैं बहुत से स्थानों पर कपूर रंगीन तथा सफेद या पारदर्शी स्वरूप में या चूर्ण चौकोर आकृति का होता है बहुत कम लोग जानते हैं कि कपूर का कभी-कभी बहुत सी जगह दवाइयों में भी उपयोग करा जाता है यह कपूर के कपूर के फायदे और उनके गुणों के विस्तार में जानकारी दी जा रही है अपने बराबर में देखा होगा कभी भी पूजा पाठ के दौरान कपूर को जलाया जाता है लेकिन क्या आप जानते हैं की कपूर कितने तरह का होता है और कैसा होता है भीमसेनी कपूर क्या होता है भीमसेनी कपूर के फायदे क्या क्या होते हैं कपूर जलाने के फायदे क्या होते हैं क्या कपूर को खाया भी जा सकता है या नहीं या कपूर कैसे बनाया जाता है आइए इसके बारे में जानते हैं।

  • कपूर क्या है ( what is the comhpar in hindi)
  • अन्य भाषाओं में कपूर का नाम ( comphor called in different languages)
  • कपूर के फायदे ( comhpar benefits in Hindi)
  • आंखों की समस्याओं में कपूर के फायदे ( comphar use for eyes dissease in Hindi)
  • शरीर में सूजन कम करने के लिए कपूर के फायदे ( comphar benefit in swelling in Hindi)

कपूर क्या है ( what is the comphar in Hindi )

कपूर एक प्रकार का जमा हुआ पदार्थ है जो उड़न सिंह सफेद दे दिए पदार्थ होता है आयुर्वेदिक में कई ग्रंथों में पक्का बोले पक्का और भीम सैनी यह 3 तरह के कपूर का जिक्र होता है मुख्य रूप से ज्यादातर हमारे दैनिक जीवन में दो तरह के कपूर का प्रयोग में लाए जाते हैं एक पेड़ों से प्राप्त होता है और दूसरा कपूर कृत्रिम रूप से रासायनिक प्रक्रिया द्वारा प्राप्त होता है प्राकृतिक कपूर की भीमसेनी कपूर कहा जाता है और यह कृत्रिम कपूर की तुलना से भारी होता है यह कारण है कि यह जल्द ही पानी में डूब जाता है और इसकी यह खूबी होती है की यह जल्दी से उड़ता भी नहीं है।

कपूर के फायदे सिरदर्द में ( Kapoor benefits in relive from headaches in Hindi)

सिर में दर्द होने की आम समस्या यह है और हर उम्र के लोग इससे ज्यादा परेशान हैं कपूर के फायदे से सिर दर्द से आराम मिल सकता है शुण्ठी,लोग, कपूर अर्जुन की छाल और सफेद चंदन को समान मात्रा में लेकर एक ओखली में पीस लेते हैं और सिर पर लेप करने से सिरका दर्द जल्द ही ठीक हो जाता है।

आंखों की समस्याओं में कपूर के फायदे ( camphar uses for eyes dissease in Hindi)

आंखों की समस्याओं में कपूर के चूर्ण को बरगद के दूध में पीसकर आंखों में काजल की तरह लगाने से आंखों के जुड़े लोगों को लाभ होता है और जो हमारी आंख में ज्यादातर आंसू जो रहते हैं उन्हें भी फायदा देते हैं।

चेहरे से दाग मिटाने में कपूर के फायदे ( benefit of comphar for to get Red form dark spot and pigmentation in Hindi)

चेहरे के दागों को कम करने के लिए अधिकतर कपूर का भी प्रयोग किया जाता है और यह त्वचा में अधिक रूखापन होने की वजह से चाचा सुख स्कोर और दाग धब्बे वाली हो जाती है कपूर को नारियल तेल में मिलाकर लगाने से त्वचा का रूखापन दूर हो जाता है साथ ही चेहरे की त्वचा खेलने लगती है।

नाक से खून बहनें की भीमसेनी कपूर के फायदे ( use of comphar in National beelding in Hindi )

मौसम के बदलने पर अधिकांश सभी को सर्दी जुकाम के चपेट में आ जाते हैं जुखाम ऐसी समस्या है जिसमें हमारी नाक बहने सिर दर्द की वजह से कोई भी काम करने का मन नहीं करता है कपूर के सेवन से जुकाम को जल्दी ही ठीक किया जाता जा सकता है भीमसेनी कपूर के फायदे यहां भी मिलते हैं कपूर को गर्म पानी में डालकर उससे निकलने वाली आपको सोने से कब से जुड़े लोगों को और जुकाम में लाभ होते हैं।

कपूर कहां पाया और उगाया जाता है।

कपूर कपूर के बारे में अधिकांश लोग यह नहीं जानते होंगे कि कपूर को कैसे बनाया जाता है और आप भी यह नहीं जानते होंगे तो जान लीजिए कि भारत में अब ज्यादातर कपूर का उपयोग रसायनिक बिजी हो तो आरा बनाया जाता है और कपूर को प्राकृतिक कपूर पश्चिम बंगाल उत्तराखंड कर्नाटक तमिलनाडु केरल नीलगिरी और एशिया में अधिक मात्रा में पाया जाता है बहुत से लोग यह पूछ लेते हैं कि कपूर को जलाने के फायदे क्या-क्या हैं तो हम आपको यह बता दें कपूर को जलाने से एक तो हमारा वातावरण या वायु शुद्ध होती है कपूर को दूषित वायु से फैलाने वाले रोगों से बचाने के साथ-साथ मच्छर और मक्खियों को भी आने से रोकता है और जाने की क्या कपूर को खा सकते हैं या नहीं हर प्रकार के कपूर खाने योग्यता नहीं होते खाने योग्य कपूर का उपयोग आयुर्वेदिक चिकित्सा में औषधि के निर्माण में किया जाता है अंतः कपूर का उपयोग सीधे ना करके आयुर्वेदिक चिकित्सा परमार्थ लेकर आयुर्वेदिक औषधि के रूप में ही प्रयोग करना उचित होता है।

Leave a comment