ATM Card Kaise banaye: नया एटीएम कार्ड कैसे बनवाएं?

नया एटीएम कार्ड कैसे बनवाएं?

नया एटीएम कार्ड बनाते समय यह सवाल हमारे दिमाग में आता है जब हमारा पुराना एटीएम कार्ड खराब हो जाता है या जैसे कि टूट जाता है या कहीं गिर या खो जाता है तो खो जाने की बात से याद आया कर आपका एटीएम किसी और के हाथ लग गया है तो सबसे पहले एटीएम कार्ड बंद किस तरह से करें और फिर आकर यह आर्टिकल पड़े क्योंकि कहीं ऐसा नहीं हो जाए इस लेख को पढ़ते समय ही आपके खाते से पैसे कहीं कोई और ना निकाल ले तो सभी से यह आशा है अगर आप अपना खोया हुआ एटीएम कार्ड बंद करवा चुके होंगे आप यदि यह सोच रहे हैं कि एटीएम कार्ड कैसे बनवाएं तो अपनी इस पोस्ट में हम आपको बताएंगे कि नया एटीएम कार्ड बनाए कैसे एटीएम कितने तरह के होते हैं और जबाब एटीएम कार्ड बनवा आएंगे तो किन-किन बातों को आप ध्यान में रखें।

ATM card क्या होता है ?

पहले एटीएम कार्ड को डेबिट कार्ड का जाता है और अब आमतौर पर सभी लोगों के पास यह एटीएम कार्ड होता है इसमें आप किसी भी एटीएम से तभी पैसे निकल सकते हैं जब आपके पास पैसे नहीं हैं और आपको बैंक खाते में पैसा होगा साथी इस कार्ड का बैंक भी सबस कम पैसा काटता है और एटीएम कार्ड एक तरह से आधार कार्ड की तरह ही हो गया है जैसे आपका आधार कार्ड एक तरह से आप का पहचान पत्र होता है ठीक उसी तरह से ही आपका एटीएम कार्ड से बैंक आपकी पहचान करता है यदि आप एटीएम कार्ड बनवाते हैं तो आप इसकी मदद से अपने बैंक खाते से किसी भी एटीएम मशीन से पैसे भी निकलवा सकते हैं इसके लिए आपको एक चार अक्षर का पिन कोड दिया जाएगा जिसे भरकर आप बिना बैंक में गए अपने खाते से कितना भी पैसा निकलवा सकते हैं इसकी खास बात यह होती है कि इसे आप किसी भी बैंक एटीएम में किसी भी समय प्रयोग कर सकते हैं इसके अलावा आपके बैंक खाते में मौजूद राशि की जानकारी और अपना फोन नंबर भी एटीएम में जाकर बदलवा सकते हैं।

आप भी सभी खुल बा ले अपना ATM Card

ATM Card आज हम सभी को जरूरत ही नहीं बल्कि हम सभी के जीवन का अभिन्न अंग बन चुका है चाहे एटीएम से पैसे निकालने की बात हो या कहीं ऑनलाइन भुगतान करना हो हर जगह एटीएम की जरूरत हमें सबसे पहले पड़ती है इसलिए आज हम सभी के पास एटीएम कार्ड होना बेहद जरूरी है ताकि सब भी हम कहीं जाए तो पैसे की कभी भी दिक्कत नहीं पढ़े किसी को भी।

नया एटीएम कार्ड कैसे बनवाएं: नया एटीएम कार्ड कैसे बनवाई है जानने से पहले आप एक बार यह जान लीजिए कि एटीएम कार्ड होते कितने प्रकार के हैं ताकि जब आप एटीएम कार्ड बनवाने जाएं तो आपको परेशानी ना हो।

एटीएम कार्ड का वर्गीकरण तीन प्रकार से किया जा सकता है।

लिमिट के आधार पर: 1 दिन में एटीएम का इस्तेमाल करके कितना पैसा निकाला जा सकता है इस आधार पर एटीएम के कई प्रकार होते हैं जैसे Silver,Gold,Platinum इत्यादि……

प्लेटफार् के आधार पर: इसमें तीन प्रकार हैं जैस वीजा मास्टर कार्ड रुपए कार्ड इस बात से आज के समय में आपको कोई खास फर्क नहीं पड़ता क्योंकि आज के समय में लगभग हर तरह के एटीएम कार्ड हर जगह पर प्रयोग किया जा सकते हैं।

प्रयोग के अधार पर : प्रयोग के आधार पर एटीएम कार्ड दो प्रकार के मिलते हैं National और international नेशनल को सिर्फ भारत में use ऐसी कर सकते हैं परंतु इंटरनेशनल crad को किसी भी देश में ही use किया जा सकता है।

एटीएम कार्ड बनवाने में कितना पैसा लगता है?

नया एटीएम कार्ड कैसे बनवाएं यह समझने से पहले चली एक नजर इस पर डालते हैं कि एटीएम कार्ड बनवाने में कितना पैसा लगता है

एटीएम कार्ड अपने रंग रूप में भी कई प्रकार के होते हैं जिनको यदि आप बनवाते हैं तो बैंक आपस उनका अलग चार्ज करता है लेकिन पहली बार डेबिट कार्ड बैंक की तरफ से अपने ग्राहकों को फ्री में बनाया जाता है साथ ही जब आपका एटीएम कार्ड बन जाता है तो 1 या 2 साल तक उसकी सुविधा बैंक आपको फ्री में देती है इसके बाद यदि आप भी एटीएम सुविधा का प्रयोग करते हैं तो इसके लिए बैंकॉक से सालाना 100 से ₹200 सर्विस टैक्स का चार्ज लिया जाता है यह ध्यान देने वाली बात है जब आप बैंक से अपना एटीएम कार्ड बनवा लेते हैं तो बैंक इसका चार्ज आपसे हर साल लेता रहेगा भले ही आप इसका प्रयोग करो या ना करो इसलिए जब आपको एटीएम का काम ना हो तो इस से बैंक में जाकर बंद करवा दें ताकि आपके पास खाते में इसका चार्ज ना लिया जाए।

इसके अलावा यदि आप अपने बैंक की बजाय किसी दूसरे बैंक के एटीएम से पैसे निकलवा देते हैं तो महीने में दो से तीन बार यह सुविधा भी दी जाती है लेकिन यदि आप इससे ज्यादा दूसरे बैंक के एटीएम का प्रयोग करते हैं तो हर ट्रांजैक्शन पर इसका आपसे कुछ चार्ज लिया जाता है इसलिए कोशिश करें कि आप अपने बैंक एटीएम का ही प्रयोग करें इसके अलावा बैंक आपसे एटीएम का कोई अचार नहीं लेता है।

आइए हम आपको बताते हैं कि एटीएम कार्ड कैसे बनवाएं यदि आप एटीएम कार्ड बनवाना चाहते हैं तो हमारे बताएगा नहीं स्टेप को अपनाकर आप अपना नया एटीएम कार्ड बनवा सकते हैं यह तरीका सभी बैंकों पर लागू होता है।

  • सबसे पहले किसी भी बैंक का एटीएम कार्ड बनवाने के लिए जरूरी है आपका उस बैंक में खाता हो साथ ही हम आपको बता दें कि यदि आपके बैंक में अभी तक खाता नहीं है तो हमने इससे पहले के लेख में यह बताया है कि घर बैठे मोबाइल से बैंक खाता कैसे खोलें आप इसे भी पढ़ सकते हैं।
  • लेकिन यदि आपका बैंक में खाता है और एटीएम कार्ड नहीं है तो सबसे पहले आपको अपना आधार कार्ड और बैंक की पासबुक लेकर अपने बैंक शाखा में जाना होगा।
  • वहां जाकर आप को बैंक से प्रतिनिधि को बताना होगा कि आप कौन सा एटीएम कार्ड बनवाना चाहते हैं इसके बाद आपको वह एक फार्म देगी जो किसी आपको भरकर दोबारा से बैंक में जमा करना होगा इस फोन में यह जरूर बता दें कि आप किसी तरह का एटीएम कार्ड चाहते हैं।
  • यदि आप पहली बार बैंक में एटीएम कार्ड के लिए आवेदन कर रहे हैं तो इसके लिए आपको किसी भी तरह की फीस नहीं देनी होगी लेकिन यदि आप दूसरी है तीसरी बार एटीएम के लिए आवेदन कर रहे हैं तो उसके लिए आपको 100 या ₹200 का भुगतान करना होगा यह पैसा सीधा आपके बैंक खाते काट लिया जाएगा।
  • फॉर्म जमा करने के बाद यहां तो आपको तुरंत एटीएम कार्ड दे दिया जाएगा अन्यथा आप को 1 सप्ताह के समय दिया जाएगा इसके बाद आप दोबारा से अपनी बैंक शाखा में जाकर अपना एटीएम कार्ड लेकर आ सकते हैं
  • खास बात यह रहेगी कि आपको जो एटीएम कार्ड दिया जाएगा उस पर कोई भी नहीं होगा इसके लिए आपको अपनी बैंक शाखा के किसी भी एटीएम में जाना होगा वहां आपको छोटे-छोटे स्टेप को पूरा करके अपना पिन बना सकते हैं।
  • जैसे ही आप अपना पिन बना लेते हैं तो आप तुरंत इस स अपने बैंक खाते से पैसे निकाल सकते हैं इसके बाद से आपको एटीएम कार्ड पूरी तरह से चालू हो जाता है।

अभी आपने जानना है कि बैंक से एटीएम कार्ड कैसे बनाएं अब सवाल यह है कि घर बैठे नया एटीएम कार्ड कैसे बनाते क्या ऐसे हो सकता है तो इसका जवाब है बिल्कुल आप अपना एटीएम कार्ड घर बैठे भी बना सकते हैं इसके दो तरीके हैं फोन बैंकिंग और इंटरनेट बैंकिंग।

यदि आप अपना नया एटीएम कार्ड घर बैठे बनवाना चाहते हैं तो इसके लिए आप उस बैंक के कस्टमर कार्ड नंबर पर कॉल करके बनवा सकते हैं आपके बैंक का कस्टमर नंबर आपके बैंक पासबुक पर लिखा रहता है।

जब आप कॉल करते हैं तो आपसे आपका नाम और खाता संख्या पूछा जाएगा फिर आपसे आपके खाते की कुछ और जानकारी ली जाएगी ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि आपके दिया गया खाता संख्या आपका ही है कि कुछ ऐसी जानकारी होती है जो आप आपके पास बुक पर पहले से ही लिखी रहती है जैसे आप के खाते की आखिरी लेनदेन जन्मतिथि पूरा पता इत्यादि।

यह ध्यान देने वाली बात है कि फोन बैंकिंग से नया एटीएम कार्ड तभी बन सकता है जब अपने पहले कोई एटीएम कार्ड लिया है यदि आप पहली बार अपना खाते का एटीएम कार्ड बनाना चाह रहे हैं तो आपको अपने होम परचेज पर जाना होगा।

हमेशा यह बात ध्यान रखें कि अपने खाते की कोई भी गोपनीय जानकारी किसी को भी ना दें चाहे दे बैंक कर्मचारी ही क्यों ना हो कहने का तात्पर्य है कि आप इंटरनेट बैंकिंग का पासवर्ड एटीएम का पिन कोड ओटीपी इत्यादि आपके सिवा किसी को भी नहीं पता होता है और यह जानकारी किसी को देना भी नहीं चाहिए।

  • हमेशा उसी बैंक का एटीएम कार्ड बनवाएं जिसका एटीएम आपके घर के पास मौजूद हो ताकि आपको दूसरे एटीएम में ना जाना पड़े इससे आपका समय भी बचेगा और पैसा भी पास आएगा।
  • जवाब एटीएम का पिन हो नहाने जाए तो इस दौरान ऐसे बिना ना जो भी आसान ना हो क्योंकि यदि आपको एटीएम कहीं भी खो जाता है तो इस पिंकी गोपनीय की वजह से कोई भी आपकी एटीएम से पैसा निकाल सकता है।
  • तो इस पिंकी को अपने की वजह से कोई भी आपकी एटीएम से पैसा निकाल सकता है साथ ही कभी भी इस फिल्म को एटीएम के ऊपर ना तो लिखे ना ही किसी को बताए।
  • एटीएम बनवाने के बाद आप इस बात का ध्यान जरूर रखें कि आप इसके आगे या पीछे की फोटो किसी को ना भेजें साथ ही यदि कोई आप से फोन करके किसी तरह की ओटीपी मांगता है तो उसे बिल्कुल भी ना दें बहुत से लोग एटीएम बंद होने की बात कहकर आपके साथ चला कि करने की कोशिश करते हैं लेकिन आपके एटीएम के एक्सप्रेस डेट भी उसी काट के ऊपर लिखी होती है।
  • यदि आप एटीएम चलाने की जानकारी नहीं रखते हैं तो आपको चाहिए कि अपने घर से किसी को साथ लेकर जाएं कभी भी एटीएम के अंदर किसी अनजान आदमी की मदद ना लें क्योंकि यदि आप के एटीएम से यदि कोई भी प्रश्न निकाल लेता है तो उसे दोबारा नहीं पाया जा सकता।
  • यदि आपका एटीएम कहीं गलती से हो जाता है तो तुरंत बैंक के हेल्पलाइन पर फोन करके इसे बंद करवा दें यह नंबर आपके एटीएम कार्ड के पीछे या

Leave a comment